Uncategorized

अरे नहीं करने दी बॉयफ्रेंड से बात तो कर दी अपने ही पिता की हत्या

मध्य प्रदेश के बैतूल में एक नाबालिग बच्ची ने अपने ही पिता की महज इसलिए हत्या कर दी क्योंकि उसके पिता ब्वॉयफ्रेंड से मोबाइल पर बात करने से मना करते थे और उसके साथ घूमने जाने नहीं देते थे. बस इसी नाराजगी के चलते बेटी ने अपने ब्वॉयफ्रेंड और उसके दोस्तों के साथ मिलकर बेरहमी से अपने पिता की हत्या कर दी और डेडबॉडी को छुपा दिया.बता दें कि मध्य प्रदेश में बैतूल के सारणी इलाके में नाबालिग बेटी ने अपने की पिता की हत्या के बाद उनकी डेडबॉडी को एक कंबल में लपेटकर घर के पीछे झोपड़ी में छिपा दिया. हालांकि जब डेडबॉडी सड़ने की वजह से बदबू आने लगी तो हत्या के मामले का खुलासा हो गया. पुलिस ने हत्या के मामले में आरोपी नाबालिक लड़की, अनवर खान, शिखर मोहबे और अनिल सोनारिया को गिरफ्तार किया.शनिवार को बैतूल पुलिस ने हत्या के मामले का खुलासा करते हुए बताया कि इस हत्या में मृतक की दत्तक पुत्री ने अपने दोस्तों के साथ मिलकर घटना को अंजाम दिया है. हत्या करने के बाद दो दिनों तक शव को कंबल में छुपाकर रखा.ऐसे हुआ पिता की हत्या का खुलासा,,,पुलिस ने बताया कि 14 जनवरी को बबलू नागले ने पुलिस को सूचना दी कि उसके जीजा श्रीराम हुरमाड़े और उनकी गोद ली हुई नाबालिक बेटी सुभाष नगर में रहती है. उनकी श्रीराम हुरमाड़े से फोन पर रोज बात होती थी, लेकिन 12 जनवरी को बात नहीं हुई. फिर 14 जनवरी को मोहल्ले के लोगों से पता चला कि श्रीराम हुरमाड़े के घर के पीछे बाड़ी में बनी झोपड़ी से बदबू आ रही है और उसकी लड़की देखने के लिए जाने नहीं दे रही है.नाबालिग ने ब्वॉयफ्रेंड के साथ मिलकर काटा पिता का गला इसके बाद बबलू श्रीराम हुरमाड़े के घर गए और झोपड़ी की तलाशी ली. जहां उनको कंबल में लिपटी हुई श्रीराम की डेडबॉडी मिली. बबलू के मुताबिक, श्रीराम के सिर पर चोट लगी थी और गला कटा हुआ था. फिर उन्होंने पुलिस में शिकायत की और अज्ञात आरोपियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज करवाया. फिर हत्या के मामले की जांच शुरू होने के बाद पुलिस को मृतक की दत्तक पुत्री, उसके ब्वॉयफ्रेंड और लड़के के दोस्तों के खिलाफ सबूत मिले.जांच में पता चला कि मृतक अपनी लड़की को बॉयफ्रेंड और उसके दोस्तों के साथ घूमने-फिरने व फोन पर बात करने से मना करता था. जिससे परेशान होकर नाबालिग लड़की ने अपने ब्वॉयफ्रेंड और उसके दोस्तों के साथ अपने ही पिता को मारने का प्लान बनाया. इसके बाद उन सभी ने मिलकर श्रीराम हुरमाड़े को मौत के घाट उतार दिया और डेडबॉडी को छुपा दिया.