स्पेशल

106 वर्षीय बुजुर्ग ने दिया धरना प्रदर्शन में समर्थन

चमोली जिले के गैरसैंण ब्लॉक के सेरा-तेवाखर्क में सड़क निर्माण की मांग को लेकर चल रहे आंदोलन में मंगलवार को गांव के 106 वर्षीय बुजुर्ग नैन सिंह ने क्रमिक अनशन कर समर्थन दिया। उन्होंने कहा कि वर्तमान में सड़क किसी भी क्षेत्र के विकास की आधार शिला है। लेकिन उनके गांव को विकास की मुख्यधारा से जोड़ने को लेकर शासन और प्रशासन की ओर से अनदेखी की जा रही है। बुजुर्ग नैन सिंह को ग्रामीणों ने डंडी पर उठाकर अनशन स्थल तक पहुंचाया।

बता दें कि वर्ष 2012 में शासन की ओर से मालकोट-कालीमाटी-सेरा-तेवाखर्क सड़क को स्वीकृति प्रदान की गई। लेकिन लोनिवि की ओर से यहां पेडों का कटान करने बाद सड़क निर्माण कार्य अधर में छोड़ दिया गया है। ऐसे में बीती 26 जनवरी से यहां युवाओं, महिलाओं और बजुर्गों ने स्वयं सड़क निर्माण कार्य शुरु कर दिया है। लेकिन शासन और प्रशासन की ओर से ग्रामीणों की कोई सुध नहीं ली गई तो बीती 19 फरवरी से ग्रामीणों ने गांव में धरना प्रदर्शन भी शुरु कर दिया है। इसी क्रम में गांव के 106 वर्षीय बुजुर्ग नैन सिंह ने मंगलवार को धरना स्थल पर पहुंचकर धरना दिया। इस मौके पर महिला मंगल दल अध्यक्ष रिंकी देवी, ग्राम प्रधान हेमा बिष्ट,  बाग सिंह, दिवान सिंह, दयाल सिंह, अवतार सिंह, राजेन्द्र सिंह, हुकम सिंह आदि मौजूद थे।