Uncategorized

यूपी के शोषण के दो आरोपियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

कोटद्वार। स्थानीय ग्रास्टनगंज निवासी एक युवती द्वारा पुलिस क्षेत्राधिकारी अनिल जोशी को एक शिकायती पत्र दिया गया था। पत्र में युवती ने कहा था कि वह ईदगाह ग्रास्टनगंज कोटद्वार स्थित मदरसे में करीब पांच वर्ष पूर्व कुरान शरीफ अभ्यास करने गई थी। युवती का आरोप है कि तभी से इस मदरसे के कारी (शिक्षक) तसब्बुर व उसके साथी युनुस द्वारा उसे डरा धमकाकर मदरसे में ही लगातार उससे बलात्कार किया जाता रहा और युवती की अपने मोबाईल में अश्लील फोटो खींचकर उसे और उसके परिवार को जान से मारने की धमकी देकर लगातर उसका शारीरिक शोषण किया जाता रहा है। शिकायती पत्र के आधार पर कोतवाली पुलिस ने विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की एक टीम उत्तर प्रदेश रवाना की गई थी।
 वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक पौड़ी सुश्री पी0 रेणुका देवी द्वारा इस मामले में महिला सम्बन्धी अपराध के शीघ्र सफल निस्तारण करने हेतु कोटद्वार पुलिस को निर्देशित किया गया था
पुलिस उपाधीक्षक कोटद्वार अनिल कुमार जोशी के पर्यवेक्षण में प्रभारी निरीक्षक नरेन्द्र सिंह बिष्ट के नेतृत्व में गठित उ0नि0 दीपक तिवाड़ी, मेजर सिंह, कुलदीप सिंह, गजेंद्र कुमार, फिरोज खान के साथ  मय पुलिस टीम द्वारा बीती देर शाम मुख्य अभियुक्त तसब्बुर पुत्र हारूण को जनपद हरिद्वार से और अभियुक्त  यूनुस पुत्र हबीबुर रहमान को कुण्डाखुर्द जनपद बिजनौर उत्तर प्रदेश से गिरफ्तार किया गया।दोनों अभियुक्तों को आज यहां   न्यायालय के समक्ष पेश किया गया। पुलिस द्वारा इनके और भी आपराधिक इतिहास की जानकारी की जा रही है। इस मामले में महिला को अश्लील मैसेज भेजने वाले तीसरे अभियुक्त अदनान की भी गिरफ्तारी के प्रयास पुलिस द्वारा  किए जा रहे हैं। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक पौड़ी सुश्री रेणुका देवी द्वारा पुलिस टीम के उत्साहवर्धन हेतु डेढ़ हजार रुपये का ईनाम देने की घोषणा की गई।